Close

न्यूज़ टुडे टीम अपडेट : पूर्वी चंपारण में बाढ पीड़ितों के बीच हुई फूड पैकेटों की एअर ड्रापिंग, मोतिहारी-लखौरा पथ पर प्याज लदा पिकअप वैन पानी में बहा, चालक ने बचाई अपनी जान, छपवा-मोतिहारी पथ हो सकता है बाढ से अवरूद्ध

न्यूज़ टुडे टीम अपडेट : मोतिहारी/ बिहार :

नेपाल तराई समेत चंपारण में लगातार बारिश के कारण गंडक, बुढ़ी गंडक, तिलाबे, लालबकेया समेत अन्य छोटी नदियां अभी भी उफान पर है। जिससे पूर्वी चंपारण जिले का संग्रामपुर, सुगौली, बंजरिया, मेतिहारी, पताही एवं फेनहारा प्रखंड का इलाका बाढ की चपेट में आ चुका है। लोगों का जनजीवन जहां प्रभावित हैं तो फसले नष्ट हो चुकी है।

वहीं संग्रामपुर प्रखंड के भवानीपुर में गंडक नदी का चंपारण तटबंध टूटने के आज तीसरे दिन भी स्थिति गंभीर बनी हुई है। जबकि प्रशासन राहत व बचाव कार्य को और तेज कर दिया है। आज दूसरे दिन भी फूड पैकेट को एअर ड्रापिंग कर बाढ पीड़ितो के बीच हेलीकाॅप्टर से पहुंचाया गया। वहीं एनएच 28 ए पर मोतिहारी-छपवा मार्ग पर पानी चढ गया है। जबकि मोतिहारी- लखौरा पथ पर बाढ के पानी के बीच एक पिकवैन बह गया। चालक ने किसी तरह अपनी जान बचाई। बाढ़ के पानी में घिरे लोगों के बीच जिला प्रशासन यथा संभव मदद पहुंचाने में जुटा है।

जिलाधिकारी डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने बताया कि बाढ़ प्रभावित लोगों तक जिला प्रशासन हर मदद पहुंचा रही है। संग्रामपुर प्रखंड के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में प्रशासन की तरफ से हेलिकॉप्टर की मदद 500 सुखे भोजन के पैकेट्स गिराए गए हैं। सुखा राशन उन क्षेत्रों में गिराये गए हैं जहां अब तक राहत सामग्री नहीं पहुंच सकी थी। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में सामुदायिक रसोई की भी व्यवस्था की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top