Close

न्यूज़ टुडे टीम अपडेट : कोरोना वायरस को लेकर लॉकडाउन में नेपाल में फंसे करीब पांच सौ भारतीय नागरिक पिछले चौबीस घंटे में रक्सौल पहुंचे, वहीं चार सौ नेपालियों को स्वदेश रवाना किया गया

न्यूज़ टुडे टीम अपडेट : रक्सौल/ बिहार :

कोरोना वायरस को लेकर लॉकडाउन में नेपाल में फंसे करीब पांच सौ भारतीय नागरिक पिछले चौबीस घंटे में तीसरे चरण के तहत सख्त सुरक्षा व्यवस्था के बीच रक्सौल पहुंचे। दूसरी ओर चार सौ नेपालियों को स्वदेश रवाना किया गया।

एक दिन पूर्व सांसद सह भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल और विधायक डॉ. अजय कुमार सिंह ने नेपाल से आने वाले प्रदेश के विभिन्न जिलों के लोगों का स्वागत किया था। नेपाल में फंसे भारतीय पनटोका पंचायत स्थित 393 पिलर संख्या के समीप इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट के रास्ते रक्सौल पहुंचे।

एसडीओ अमित कुमार डीएसपी संजय कुमार झा, डीसीएलआर मनीष कुमार बीडीओ कुमार प्रशांत, रक्सौल थानाध्यक्ष अभय कुमार. एसएसबी राजकुमार कुमावत आदि लोगों ने सदल स्थल पर नेपाल से आने वाले लोगों का स्वागत किया। इसके उपरांत भारतीय लोगों को गंतव्य स्थान पर भेजने के लिए कागजी कार्रवाई करने में जुटे रहे। आव्रजन के अधिकारियों ने आवश्यक कागजात आदि की जांच की।

इसके पूर्व प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ.शरतचंद्र शर्मा ने सदल नेपाल से आने वाले लोगों की स्क्रीनिग कर स्वास्थ्य जांच की। भारत की भूमि पर पहुंचते ही लोगों के चेहरे खिल उठे। लोगों ने जय हिद बोलकर धरती को चूम लिया। रक्सौल अनुमंडल के विभिन्न क्वारंटाइन सेंटरों में रह रहे नेपाली युवकों को प्रथम दिन नेपाल को सौंपा गया।

बीडीओ कुमार प्रशांत ने बताया कि दिल्ली-काठमांडू को जोड़ने वाले मुख्यपथ के रास्ते रक्सौल सीमा शुल्क कार्यालय के रास्ते आवश्यक कागजात की जांच के बाद पर्सा जिला वीरगंज पुलिस को सौंपा गया। नेपाली युवकों ने भारत-नेपाल मैत्री पुल पर पहुंचते ही जय हिद और जय नेपाल बोलकर नेपाल सीमा में प्रवेश किया। बता दें कि पिछले दस दिनों से नेपाल सरकार के टालमटोल के रवैये के कारण नेपाली लोग लॉक डाउन में फंसे थे। इस दौरान नेपाल सरकार के विरोध में नारे बाजी भी किये थे। उक्त लोगों के आक्रोश को भारतीय प्रशासन को झेलना पड़ा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top