Close

न्यूज़ टुडे टीम अपडेट : बिना राशन कार्ड वालों को भी दी जाएगी सहायता राशि- सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग

न्यूज़ टुडे टीम अपडेट : पटना/ बिहार : 

सूचना जनसम्पर्क विभाग के सचिव अनुपम कुमार ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए किये जा रहे कार्यों की जानकारी दी. अनुपम कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर जिन लोगों के पास राशन कार्ड नहीं है उन्हें भी सहायता राशि के तौर पर 1000 रुपए दिए जाएंगे.11 लाख 28 हजार आवेदकों के राशन कार्ड को मंजूरी

सूचना जनसम्पर्क विभाग के सचिव अनुपम कुमार ने बताया कि 36 लाख रिजेक्टेड और पेंडिंग राशन कार्डधारियों के आवेदन आए हैं. जिनमें से 11 लाख 28 हजार आवेदकों के राशन कार्ड बनाने की मंजूरी दे दी गई है. बाकि बचे लोगों का भी राशन कार्ड जल्द ही बना दिया जाएगा. जिन लोगों का राशन कार्ड अब तक नहीं बना है जीविका के माध्यम से उनकी पहचान कर उन्हें भी लाभ दिया जाएगा.चल रहे 196 आपदा राहत केंद्र

अनुपम कुमार ने बताया कि बिहार में कोरोना पॉजिटिव केस का आंकड़ा 96 है. राज्य में 196 आपदा राहत केन्द्र चलाए जा रहे हैं. जिसका लाभ 61 हजार 3 सौ 24 लोग उठा रहे हैं. पंचायत स्तर पर स्थित 989 क्वारेंटाईन सेंटर में 8 हजार 2 सौ 33 लोग रह रहे हैं, जिन्हें भोजन और चिकित्सीय सुविधा मुहैया कराई जा रही है.आवेदकों के खाते में दिए जा रहे हजार रूपये

लॉक डाउन के कारण बिहार के बाहर फंसे बिहार के लोगों के अब तक 17 लाख 40 हजार आवेदन प्राप्त हुए हैं. जिनमें से 11 लाख 70 हजार आवेदकों के खाते में 1000 रूपये की राशि स्वीकृत हो गई है. मुख्यमंत्री के निर्देश पर बिहार फाउंडेशन के जरिए राज्य के बाहर फंसे 9 राज्यों के 12 शहरों में 55 राहत केन्द्र चलाए जा रहे हैं. जिसका 9 लाख 6 हजार 9 सौ 38 लोग लाभ ले रहे हैं.104 लोगों पर एफआईआर दर्ज

वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जानकारी देते हुए एडीजी पुलिस मुख्यालय जितेन्द्र कुमार ने कहा कि लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराया जा रहा है. सोशल मीडिया पर कोविड 19 को लेकर भ्रम फैलाने वाले 104 लोगों पर एफआईआर दर्ज की गई है और 79 लोगों की गिरफ्तारी हुई है.36 पीडीएस केन्द्रों को किया गया रद्द

राशन वितरण में अनियमितता की शिकायत पर 267 पीडीएस केन्द्रों की जांच की गई. जिसमें 144 पर एफआईआर दर्ज और 127 को निलंबित किया गया है. वहीं, 36 पीडीएस केन्द्रों को रद्द कर दिया गया है. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में स्वास्थ्य सचिव लोकेश कुमार सिंह और एडीजी मुख्यालय जितेंद्र कुमार भी मौजूद थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top