Close

न्यूज़ टुडे टीम अपडेट : समुदाय विशेष की तालिबानी पंचायत में भारतीय जनता पार्टी के नेता से कान पकड़कर उठक-बैठक कराई

न्यूज़ टुडे टीम अपडेट : नालंदा/ बिहार :

समुदाय विशेष की तालिबानी पंचायत में पहले भारतीय जनता पार्टी के नेता से कान पकड़कर उठक-बैठक कराई गई। घटना का विरोध करने पर दबंगों ने अगले दिन फिर बीजेपी नेता के समर्थकों को पीटा तथा दहशत फैलाने के लिए जमकर फायरिंग की। घटना बिहार के नालंदा जिला अंतर्गत अस्‍थावां प्रखंड स्थित गिलानी पंचायत की है। लगातार दो दिन की इन घटनाओं के कारण उपजे तनाव को देखते हुए पुलिस इलाके में में कैंप कर रही है।

बीजेपी नेता की टिप्‍पणी से उपजी नाराजगी

नालंदा के अस्‍थावां प्रखंड के एक बीजेपी नेता अरविंद ठाकुर द्वारा बीते 31 माच को तब्लीगी मरकज के मुखिया मौलाना साद के खिलाफ कथित टिप्पणी की गई थी। बताया जाता है कि अरविंद ठाकुर ने तब्‍लीगी जमात के मुखिया मौलाना साद को जेल भेजने की बात कही थी। इससे गिलानी पंचायत के एक समुदाय विशेष के लोगों में नाराजगी थी।

पंचायत में कराई उठक-बैठक, मंगवाई माफी

बीजेपी नेता के बयान के खिलाफ गिलानी में मुखिया ननदे पासवान की अध्यक्षता में पंचायत बैठी। पंचायत द्वारा मुकर्रर सजा के अनुसार अरविंद ठाकुर ने कान पकड़कर उठक-बैठक की तथा पैर छूकर माफी भी मांगी। इसके पहले कुछ लोगों ने उनके साथ मारपीट भी की थी।

घटना का वीडियो वायरल होने पर मचा हड़कम्‍प

पंचायत में बीजेपी नेता का उठक-बैठक करते व मांफी मांगते वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इसके बाद मामले ने तूल पकड़ लिया। घटना को लेकर बीजेपी नेता द्वारा नामजद एफआइआर दर्ज करायी गयी। थानाध्यक्ष दिनेश कुमार सिंह के इसकी पुष्टि की।

राजनीतिक रंग भी लेने लगा मामला

इस बीच मामला राजनीतिक रंग भी लेने लगा है। नालंदा के बीजेपी जिलाध्यक्ष रामसागर सिंह एसपी नीलेश कुमार से मांग की है कि आरोपितों को तत्काल गिरफ्तार किया जाए।

बीजेपी नेता समर्थकों को भी पीटा, फायरिंग

उधर, बीजेपी नेता के विरोध में खड़े समुदाय में भी आक्रोश है। घटना के दूसरे दिन मंगलवार की शाम बाइक से अपने गांव हरगांवा लौट रहे बीजेपी नेता समर्थक मिथिलेश यादव, मोहन जमादार और मुनचुन पर दूसरे समुदाय के लोगों ने गंदा पानी फेंक दिया तथा विरोध करने पर उनसे मारपीट करते हुए उनकी बाइक क्षतिग्रस्त कर दी। इस बीच करीब 15 राउंड गोलीबारी की भी बात कही गई है। हालांकि, पुलिस गोलीबारी से इन्‍कार कर रही है। घटना के बीच तीनों युवक किसी तरह जान बचाकर भागे।

घटना की एफआइआर दर्ज कराने से नाराजगी

बीजेपी नेता अरविंद ठाकुर ने बताया कि पंचायत के फैसले के अनुसार उठक-बैठक कराने को ले एफआइआर दर्ज कराने के बाद दूसरे पक्ष में काफी नाराजगी है। इसलिए उनलोगों ने फिर दूसरी घटना कां अंजाम दिया है।

तनाव को देखते हुए गांव में कैंप कर रही पुलिस

सूचना मिलने पर डीएसपी संजय कुमार व डीएसपी इमरान परवेज स्‍थानीय थानाध्‍यक्ष के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। उन्‍होंने दोनों पक्षों को थाने में बुलाकर शांति समिति की बैठक की। एसपी नीलेश कुमार ने भी हरगांवा गांव पहुंचकर तहकीकात की। उन्होंने दोषियों पर कार्रवाई का भरोसा दिलाया।  इस बीच माहौल में तनाव को देखते हुए शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए पुलिस रात से ही गांव में कैंप कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top