Home राज्य उत्तर प्रदेश न्यूज़ टुडे टीम एक्सक्लूसिव : विशाखापत्तनम में जानलेवा स्टिरीन गैस का रिसाव...

न्यूज़ टुडे टीम एक्सक्लूसिव : विशाखापत्तनम में जानलेवा स्टिरीन गैस का रिसाव वाली कम्पनी का ‘हिंदुस्तान पॉलिमर’ से एलजी पॉलिमर इंडिया तक का सफ़र, फिर आयी भोपाल गैस त्रासदी की याद

न्यूज़ टुडे टीम एक्सक्लूसिव : नयी दिल्ली : 

विशाखापत्तनम में जानलेवा स्टिरीन गैस का रिसाव जिस एलजी पॉलिमर इंडिया के कारखाने से हुआ वह दक्षिण कोरिया की रसायन कंपनी एलजी केम की अनुषंगी कंपनी है. एलजी केम ने एक स्थानीय कंपनी का अधिग्रहण कर 1997 के दौरान भारत के इस क्षेत्र में कारोबार शुरू किया था. कंपनी के कारखाने से गैस रिसाव की घटना में 11 लोगों की मौत हो चुकी है तथा सैकड़ों लोग अस्पताल में भर्ती हैं. कंपनी के इस वाइजैग संयंत्र में पॉलीस्टिरीन (PS) का विनिर्माण किया जाता है, जिसका खानपान सेवा उद्योग में काफी इस्तेमाल होता है. इस रसायन का इस्तेमाल प्लास्टिक के एक बार इस्तेमाल करने वाले ट्रे और कंटेनर, बर्तन, फोम्ड कप, प्लेट और कटोरे आदि बनाने में होता है. इन्हें एक बार इस्तेमाल करने के बाद फेंक दिया जाता है.

जानकार सूत्रों के अनुसार, एलजी पॉलिमर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड की विशाखापत्तनम फैक्ट्री को लॉकडाउन के बाद फिर से खोलने के लिए गुरुवार को तैयार किया जा रहा था, तभी यह दुर्घटना हुई. कंपनी के कर्मचारी परिचालन को फिर से शुरू करने की तैयारी कर रहे थे, तभी शुरुआती घंटों में गैस का रिसाव होने लगा. कहा जा रहा है कि जब रिसाव हुआ, तब स्टोरेज टैंक में करीब 1,800 टन स्टिरीन गैस थी. स्टेबिलिटी और टेंपरेचर में बदलाव के कारण स्टिरीन खुद ही पॉलीमराइजेशन हो सकता है, जिसके कारण वाष्पीकरण हो सकता है.

कंपनी की वेबसाइट के अनुसार, इसकी स्थापना श्रीराम ग्रुप के द्वारा 1961 में विशाखापत्तनम में पॉलीस्टिरीन और इसके सह-पॉलिमर निर्माण के लिए ‘हिंदुस्तान पॉलिमर’ के रूप में की गयी थी. बाद में 1978 में यूबी ग्रुप के मैकडॉवेल एंड कंपनी लिमिटेड के साथ इसका विलय हो गया. एलजी केम ने आक्रामक ग्लोबल ग्रोथ स्कीम्स के तहत भारत को महत्वपूर्ण बाजार मानते हुए जुलाई 1997 में हिंदुस्तान पॉलिमर का अधिग्रहण किया और जुलाई 1997 में इसका नाम बदलकर एलजी पॉलिमर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (एलजीपीआई) कर दिया.

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि कारखाने को पिछले साल 222.8 अरब वॉन (18.18 करोड़ डॉलर) का राजस्व और 6.3 अरब वॉन का शुद्ध लाभ हुआ था. बिक्री के मामले में मूल कंपनी एलजी केम 2017 में दुनिया की 10वीं सबसे बड़ी रासायनिक कंपनी थी. स्टिरीन गैस एक ज्वलनशील तरल है, जिसका उपयोग पॉलीस्टिरीन प्लास्टिक, फाइबर ग्लास, रबर और लेटेक्स बनाने के लिए किया जाता है. विशाखापत्तनम कारखाने में दुर्घटना ने उद्योग में रसायनों के अनुचित रखरखाव पर सवाल खड़े कर दिये हैं और दुनिया की सबसे खराब औद्योगिक आपदा 1984 की भोपाल गैस त्रासदी की याद दिला दी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Our Visitor

5999790
Users Today : 11
Users Yesterday : 4
Users Last 7 days : 140
Users Last 30 days : 773
Users This Month : 267
Users This Year : 1437
Total Users : 5999790
Views Today : 141
Views Yesterday : 86
Views Last 7 days : 851
Views Last 30 days : 3799
Views This Month : 1655
Views This Year : 9406
Total views : 6640493
Who's Online : 0
Your IP Address : 3.238.117.130
Server Time : 2024-04-14
- Advertisment -

Most Popular

न्यूज़ टुडे एक्सक्लूसिव : जब भाषण देते हुए अचानक मंच पर ही रोने लगे BJP सांसद राधा मोहन सिंह

न्यूज़ टुडे एक्सक्लूसिव : डा. राजेश अस्थाना, एडिटर इन चीफ, न्यूज़ टुडे मीडिया समूह : ★चरखा पार्क के उद्घाटन के बाद भाषण देते समय सांसद राधा...

न्यूज़ टुडे एक्सक्लूसिव : ‘मोतिहारी में पार्टी प्रत्याशी कोई हो, चुनाव मैं स्वयं लड़ूंगा’ : सांसद राधामोहन सिंह

न्यूज़ टुडे एक्सक्लूसिव : डा. राजेश अस्थाना, एडिटर इन चीफ, न्यूज़ टुडे मीडिया समूह : ★लोकसभा चुनाव में प्रत्याशी बीजेपी का ही होगा. मैं लड़ूं या...

न्यूज़ टुडे टीम फ़िल्म अपडेट : मुंबई बॉलीवुड के कार्यक्रम में मोतिहारी का जलवा, डा.राजेश अस्थाना, निशांत उज्ज्वल व अमित सर्राफ के साथ सम्मानित...

न्यूज़ टुडे टीम फ़िल्म अपडेट : मुम्बई मो. शहज़ाद खान : ब्यूरो चीफ, न्यूज़ टुडे टीम फ़िल्म अपडेट, मुम्बई ★मुम्बई में भोजपुरी सिनेमा के प्रसिद्ध अवार्ड...

न्यूज़ टुडे ब्रेकिंग अपडेट : सम्पूर्ण विश्व में चम्पारण के अतीत के अनछुए पहलुओं से रूबरू कराती फ़िल्म “चम्पारण सत्याग्रह” युगों युगों तक रामायण...

न्यूज़ टुडे ब्रेकिंग अपडेट : मोतिहारी रिंकू गिरी, स्थानीय संवाददाता  ★आज की युवा पीढ़ी चम्पारण सत्याग्रह को न के बराबर जानती है। उन्हें यह मालूम नही...

Recent Comments