Close

न्यूज़ टुडे टीम अपडेट : मझौलिया के दो क्वारंटाइन कैम्प में रहने वालों से रूबरू हुए डीएम व एसपी, कहा- स्किल के अनुरूप किया जाएगा रोजगार सृजन

न्यूज़ टुडे टीम अपडेट : बेतिया/ बिहार :

बेतिया, पश्चिम चम्पारण जिला के डीएम कुंदन कुमार एवं बेतिया पुलिस अधीक्षक निताशा गुड़िया सोमवार को मझौलिया स्थित दो क्वारंटाइन सेंटरों कस्तूरबा गांधी उच्च विद्यालय, मझौलिया एवं उत्क्रमित मध्य विद्यालय, पारस पकड़ी, मझौलिया प्रवासी व्यक्तियों से रूबरू हुए। इस दौरान प्रवासी व्यक्तियों ने डीएम के साथ स्किल मैपिंग क्षेत्र में विस्तृत जानकारियां साझा किया। कस्तूरबा गांधी उच्च विद्यालय, मझौलिया में क्वारन्टीन हो रहे प्रवासी म. फिरोज ने डीएम को बताया कि वह कपड़ा पर नक्काशी का कार्य करने के कार्य में दक्ष है। वह दिल्ली में यह कार्य करके अच्छी कमाई करता रहा।

जिला पदाधिकारी के पूछे जाने पर कि अगर उसे सारी सुविधाएं यही मुहैया हो जाय तो वह कहां काम करना पसंद करेगा। इस पर फिरोज ने कहा कि जिला में रहकर इन्ब्राॅडरी का कार्य करना पसंद करूंगा। इसी क्वारंटाइन सेंटर में रहने वाले रहमान ने बताया कि वह बाहर में कुर्ती तैयार कर उसे अन्य जगहों पर निर्यात करता रहा। वहां का काम धंधा बंद हो गया है तो उसके सामने बहुत बड़ा संकट आ गया है। उसकी रोजी-रोटी कैसे चलेगी। डीएम ने रहमान को भी आश्वस्त किया कि आपलोग जिस-जिस क्षेत्र में एक्सपर्ट हैं, उसी क्षेत्र में आपको रोजगार मुहैया कराने की पूरी कोशिश जिला प्रशासन करेगा। सरकार आपको रोजगार भी अवश्य मुहैया करायी।

इसी तरह बागड़ राम, अरबाज ने अपने हुनर के बारे में बताया तथा इस बात पर संतुष्ट दिखा कि सरकार एवं जिला प्रशासन उन्हें भी जीवोकोपार्जन को रोजगार उपलब्ध कराने को प्रयासरत है। उत्क्रमित मध्य विद्यालय, पारस पकड़ी क्वारंटाइन सेंटर के प्रवासियों ने जिला पदाधिकारी को बताया कि बाहर में वे जिंस का पैकेजिंग कर उसे रिटेलर को भेजते रहे, जिससे उन्हें अच्छी खासी कमाई हो जाती। अब उनके सामने भी जीविकोपार्जन का संकट खड़ा हो गया है।

अपने ऑनर को लाइनअप करें, माल तैयार कर यही से भेजे

इस पर जिला पदाधिकारी ने कहा कि आप सभी जहां काम करते रहे वहाँ के आॅनर से बात करें, उनको लाइनअप करें कि अगर इसी जिला में जिंस तैयार करके उपलब्ध करा दिया जाय तो उसे विक्रय करने में परेशानी तो नहीं होगी।

युद्धस्तर पर जारी है स्किल मैपिंग

डीएम कुंदन कुमार ने प्रवासियों से कहा कि सरकार के निदेशानुसार जिला प्रशासन स्किल मैपिंग का कार्य युद्धस्तर पर करा रहा है। प्रवासी व्यक्तियों को उनके स्किल के अनुसार इसी जिला में रोजगार उपलब्ध कराया जायेगा। उन्होंने कहा कि 5-10 प्रवासी व्यक्ति मिलकर उद्यमी मित्र मंडली बनाये। मंडली के सभी सदस्य आपस में बैठक कर विचार-विमर्श करें कि वो जिस रोजगार में महारत है, उसे इसी जिले में शत-प्रतिशत सफलतापूर्वक कैसे किया जा सकता है। सरकार द्वारा सारी सुविधाएं उपलब्ध करायी जायेगी।

प्रोडक्शन व मार्केटिंग स्किल की कमी नहीं

जिला पदाधिकारी ने क्वारंटाइन कैम्पों में रहने वाले प्रवासियों से प्रोडक्शन लाइन, मार्केटिंग लाइन के बारे में विस्तारपूर्वक चर्चा की। इस दौरान प्रवासी श्रमिक काफी खुश दिखे। जिला पदाधिकारी ने उन्हें आवश्स्त किया कि शीघ्र ही उन्हें उनके हुनर के अनुसार इसी जिला में रोजगार दिलाया जायेगा। इस अवसर पर एसडीएम, बेतिया विद्यानाथ पासवान, बीडीओ, मझौलिया चंदन कुमार, थानाध्यक्ष कृष्ण मुरारी गुप्ता उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top