Close

न्यूज़ टुडे टीम अपडेट : 65 वर्ष अथवा इससे अधिक आयु वाले मतदाताओं को डाकमत की सुविधा का विकल्प चुनने की अनुमति, चुनाव आयोग ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से बिहार के विभिन्न राजनीतिक दलों के साथ बैठक किया

न्यूज़ टुडे टीम अपडेट : पटना/ बिहार :

बिहार में कोरोना के बढ़ते कहर को देखते हुए बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर चुनाव आयोग ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बिहार के विभिन्न राजनीतिक दलों के साथ बैठक की, जिसमें चुनाव को लेकर चर्चा की गई है। बैठक में क्या चर्चा हुई, इसकी जानकारी थोड़ी देर बाद मिलेगी। फिलहाल इस बैठक को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

बता दें कि गुरुवार को चुनाव आयोग ने कोरोना संकट को देखते हुए बिहार चुनाव को लेकर एक बड़ा फैसला सुनाया है। चुनाव आयोग ने बिहार विधानसभा चुनाव और निकट भविष्य में होने वाले उपचुनावों के दौरान 65 वर्ष से ज्यादा आयु के मतदाताओं को डाकमत की सुविधा नहीं देने का निर्णय लिया है। कहा जा रहा है कि आयोग ने कर्मचारियों, लॉजिस्टिक्स की बाधाओं और कोविड-19 सुरक्षा नियमों के मद्देनजर यह निर्णय लिया है।

हालांकि, चुनाव आयोग ने एक बयान में कहा कि 80 वर्ष से अधिक आयु वाले मतदाताओं, दिव्यांग मतदाताओं और आवश्यक सेवाओं में कार्यरत मतदाताओं के साथ ही कोविड-19 संक्रमित अथवा पृथक-वास में रहने वाले मतदाताओं को इन चुनाव में वैकल्पिक डाकमत की सुविधा प्रदान की जाएगी।

गौरतलब है कि पिछले साल अक्टूबर में कानून मंत्रालय ने नियमों में संशोधन कर लोकसभा एवं विधानसभा चुनाव के दौरान 80 वर्ष और इससे अधिक उम्र वाले मतदाताओं और दिव्यांग मतदाताओं को डाकमत की सुविधा का विकल्प चुनने की अनुमति प्रदान की थी।

गत 19 जून को मंत्रालय ने नियमों में एक ताजा बदलाव किया था, जिसमें 65 वर्ष अथवा इससे अधिक आयु वाले मतदाताओं को डाकमत की सुविधा का विकल्प चुनने की अनुमति दी गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave a comment
scroll to top