न्यूज़ टुडे टीम अपडेट : जज से रंगदारी मामले में उनके मोबाइल पर की गयी चैटिंग व बातचीत के आधार पर पुलिस ने मुशहरी प्रखंड के पूर्व सीओ मनोज राम को गिरफ्तार कर जेल भेजा

न्यूज़ टुडे टीम अपडेट : मुजफ्फरपुर/ बिहार : 

तत्कालीन एडीजे-11 मनोज कुमार से पत्र भेजकर पांच लाख रंगदारी मांगने में नगर थाने की पुलिस ने मुशहरी प्रखंड के पूर्व सीओ मनोज राम को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. रंगदारी के पत्र में लिखे गये मोबाइल नंबर से उनके मोबाइल पर की गयी चैटिंग व बातचीत के आधार पर पुलिस ने यह कार्रवाई की है. थाने पर पूछताछ करने के बाद गुरुवार की दोपहर को मनोज राम को जेल भेज दिया गया है.

नोट : कृपया इसे भी पढ़ें :-

न्यूज़ टुडे टीम अपडेट : पिछले एक साल में भाजपा के हाथ से पांच राज्य फिसला, भाजपा का शासन 71 फीसद भूभाग से घटकर 35 पर पहुंचा

नगर थानेदार ओमप्रकाश ने बताया कि 13 मार्च, 2019 को पत्र भेजकर तत्कालीन एडीजे -11 मनोज कुमार से पांच लाख की रंगदारी मांगी गयी थी. रंगदारी की रकम पवन भाई के नाम पर देने को कहा गया था. 

नोट : कृपया इसे भी पढ़ें :-

न्यूज़ टुडे टीम एक्सक्लूसिव : नये ट्रैफिक नियम लागू होने के बाद पुलिस ने राज्यवासियों से करोड़ों रुपये का जुर्माना वसूले, पर खुद के करीब 12 सौ से अधिक पुलिस वाहनों के कागजात नहीं

मामले में तत्कालीन सिविल कोर्ट के इंचार्ज नकुल प्रसाद नवीन के बयान पर नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी.  पुलिस की छानबीन के दौरान जिस नंबर से रंगदारी मांगी गयी. उस नंबर पर लगातार पूर्व सीओ मनोज राम की मैसेज से चैटिंग है. दो बार मोबाइल से बातचीत करने का भी प्रमाण मिला है. साथ ही उनके घर से एक डायरी मिली है. इसमें अधिकांश लिखावट रंगदारी वाली पत्र से मिल रही है.

Updates