न्यूज़ टुडे टीम अपडेट : द्वारका सेक्टर-दस की रामलीला में आज विजयादशमी के दिन अन्याय के प्रतीक रावण का पुतला दहन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगें, चार स्तरीय सुरक्षा घेरा में लगे हैं मोदी-ट्रंप की तस्वीरें

न्यूज़ टुडे टीम अपडेट : नई दिल्ली :

द्वारका सेक्टर-दस की रामलीला इस बार विशेष होने जा रही है। विजयादशमी के दिन अन्याय के प्रतीक रावण का पुतला दहन करने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहां आ रहे हैं। उनके आगमन को देखते हुए समिति की ओर विशेष तैयारी की गई है। द्वारका श्री रामलीला सोसायटी की ओर से सोमवार को तैयारियों को अंतिम रूप दिया गया। सुरक्षा के मद्देनजर पूरा इलाका छावनी में तब्दील हो चुका है। पश्चिमी दिल्ली के सांसद प्रवेश वर्मा व द्वारका श्री रामलीला सोसायटी के संरक्षक राजेश गहलोत दिनभर सुरक्षा इंतजामों का जायजा लेते रहे।

करीब एक लाख लोगों के आने की उम्मीद

द्वारका सेक्टर-दस की रामलीला में विजयादशमी के दिन वैसे भी करीब 70 हजार की भीड़ जुटती है। इस बार प्रधानमंत्री के आगमन को देखते हुए समिति को उम्मीद है कि करीब एक लाख की भीड़ जुटेगी। वैसे यहां द्वारका के अलावा आसपास के इलाके से भी लोग जुटते हैं, लेकिन इस बार हरियाणा के लोगों के भी आने की उम्मीद है। समिति का कहना है कि ढाई से तीन हजार लोगों के बैठने का प्रबंध किया गया है।

कई बड़ी स्क्रीन भी लगेंगी

भीड़ को देखते हुए आयोजन स्थल के आसपास बड़ी-बड़ी स्क्रीन का भी प्रबंध किया गया है ताकि लोग लीला का मंचन व पुतला दहन देख सकें।

अतिथियों को कुल्हड़ में दिया जाएगा गाय का दूध

प्रधानमंत्री मोदी की ओर से सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल न करने की अपील को देखते हुए यहां अतिथियों को गाय का दूध कुल्हड़ में दिया जाएगा। पानी के लिए तांबे की बनी बोतल व गिलास का इस्तेमाल किया जाएगा। खानपान परोसने के लिए पर्यावरण के अनुकूल बर्तनों का उपयोग होगा।

मोदी-ट्रंप की तस्वीरें

जिस रास्ते प्रधानमंत्री मंच पर पहुंचेंगे, उस रास्ते में हाउडी मोदी कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की विशाल तस्वीरें लगाई गई हैं। इसके अलावा अनुच्छेद 370 को लेकर आए फैसले, सिंगल यूज प्लास्टिक को लेकर प्रधानमंत्री की अपील के संदेश आधारित बड़ी-बड़ी तस्वीरें ध्यान खींच रही हैं। आयोजन स्थल पर जगह-जगह मोदी के कटआउट भी लगाए गए हैं।

रामलीला मंचन को देखने व रावण दहन के कार्यक्रम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रामलीला मंचन को देखने व रावण दहन के कार्यक्रम में शामिल होने के मद्देनजर द्वारका सेक्टर-10 स्थित रामलीला आयोजन स्थल को एसपीजी, अर्धसैनिक बल व दिल्ली पुलिस के जवानों ने किले में तब्दील कर दिया है। द्वारका जिला पुलिस उपायुक्त एंटो अल्फोंस आयोजन स्थल पर आकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा ले रहे हैं।

वहीं केंद्रीय लोक निर्माण विभाग के अभियंताओं की टीम ने भी मंच का तकनीकी जायजा लिया। इसके अलावा एसपीजी की ओर से मंच की सुरक्षा को लेकर भी कई बदलाव किए हैं। आयोजन स्थल पर आने जाने वाले सभी कर्मियों के लिए सोमवार को सुरक्षा पास जारी किया गया। इसके बाद सोमवार से आयोजन स्थल पर रामलीला आयोजन समिति द्वारा दिया गया पास मंच के करीब 15 मीटर के घेरे तक के लिए मान्य नहीं रहा।

सुरक्षा पास जारी

यहां तक कि रामलीला के कलाकारों व आयोजन समिति के पदाधिकारियों को भी सुरक्षा पास जारी किए गए हैं। जिनके पास सुरक्षा पास नहीं है, उन्हें आयोजन स्थल पर प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। प्रधानमंत्री के साथ मंच पर चुनिंदा व्यक्तियों को ही प्रवेश दिया जाएगा। प्रधानमंत्री, केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन, सांसद प्रवेश वर्मा के अलावा आयोजन समिति के करीब सात सदस्यों को मंच पर प्रवेश की अनुमति दी गई है। सुरक्षाकर्मियों ने इस बावत आयोजन समिति के समक्ष साफ तौर पर कहा है कि केवल केंद्रीय मंत्री के आने पर ही इस व्यवस्था में तब्दीली की जा सकती है।

चार स्तरीय सुरक्षा घेरा

मंच तक पहुंचने के लिए चार स्तरीय सुरक्षा घेरा बनाया गया है। खास बात यह है कि हर स्तर पर कड़ी सुरक्षा जांच से हर व्यक्ति को गुजरना होता है। हर व्यक्ति की पूरी जानकारी बकायदा रजिस्टर में दर्ज की जाती है। यह प्रक्रिया आखिरी घेरे तक चलती है।

15 मिनट रामलीला का मंचन देखेंगे प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री मोदी करीब 15 मिनट रामलीला का मंचन देखेंगे। इस दौरान कलाकार रावण-मंदोदरी संवाद, शिव तांडव स्त्रोत, राम-रावण युद्ध, राम विभीषण संवाद प्रसंग का मंचन करेंगे। आयोजन समिति के संरक्षक राजेश गहलोत ने बताया कि यह हमारे लिए अत्यंत सम्मान की बात है कि प्रधानमंत्री लीला का मंचन देखने आ रहे हैं।

Updates