न्यूज़ टुडे टीम एक्सक्लूसिव : थानाध्यक्ष व पुलिस टीम पर शराब धंधेबाजों द्वारा किए गए हमले में उनके सरकारी व निजी मोबाइल भी लूटे, मामले में गिरफ्तार सभी पांच आरोपितों को कड़ी सुरक्षा में न्यायिक हिरासत में भेजा गया

न्यूज़ टुडे टीम एक्सक्लूसिव : मोतिहारी :

नोनफरवा ढांगर टोली चौक पर थानाध्यक्ष विकास तिवारी व पुलिस टीम पर शराब धंधेबाजों द्वारा शुक्रवार को किए गए हमले के दौरान हमलावरों ने उनके दो मोबाइल भी लूट लिये। इनमें से एक सरकारी व दूसरा उनका निजी मोबाइल था। काफी खोजबीन के बाद भी दोनों मोबाइल नहीं मिल पाये हैं। सरकारी मोबाइल लूट को लेकर भी हमलावरों पर एफआईआर दर्ज की गई है।

पुलिस के अनुसार, ग्रामीणों से थानाध्यक्ष के सरकारी व निजी मोबाइल को हमलावरों द्वारा लूटकर तोड़ देने की जानकारी मिली है। पुलिस टूटे मोबाइल के भी हिस्से की खोज कर रही है। हालांकि, शनिवार को घटनास्थल से एक टूटा मोबाइल मिला है, जिसका सत्यापन किया जा रहा है। अनुसंधान में जुटे मधुबन इंस्पेक्टर अशोक महतो व प्रभारी थानाध्यक्ष गंगा दयाल ओझा ने बताया कि मोबाइल लूट मामले में हमलावरों पर एफआईआर दर्ज कर ली गयी है।

मुखिया पति सहित 44 नामजद व ढाई सौ अज्ञात पर एफआईआर दर्ज

पताही थानाध्यक्ष व पुलिस टीम पर हमला मामले में नोनफरवा की मुखिया रीना देवी के पति ध्रुवलाल मांझी सहित 44 को नामजद किया गया है। ढाई सौ अज्ञात व्यक्तियों को भी आरोपित किया गया है। घटना के समय के पुलिस को कुछ वीडियो फुटेज भी मिले हैं। इसके आधार पर पुलिस हमलावारों को चिह्नित करने में जुटी है। एफआईआर प्रभारी थानाध्यक्ष गंगा दयाल ओझा के लिखित बयान पर दर्ज की गयी है। नामजद आरोपितों में हमले में शामिल व शराब धंधेबाज का नाम शामिल हैं। उक्त सभी नामजद व अज्ञात पर पुलिस टीम पर हमला, थानाध्यक्ष की सर्विस रिवाल्वर छीनने का प्रयास व सरकारी मोबाइल लूटने का आरोप है। प्रभारी थानाध्यक्ष ने बताया कि हमले में शामिल व्यक्तियों को चिह्नित कर एफआईआर दर्ज की गई है। आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

थानाध्यक्ष व पुलिस टीम पर हमला मामले में पांच धराये

थानाध्यक्ष व पुलिस टीम पर हुए हमला मामले में पुलिस ने शुक्रवार रात छापेमारी कर पांच आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार सभी आरोपी नोनफरवा ढांगर टोली निवासी रामचंद्र मांझी, महेंद्र मांझी, नगीना मांझी, रामअवतार मांझी व गोविंद मांझी हैं। सभी मामले के नामजद आरोपित हैं। छापेमारी का नेतृत्व एसपी अभियान हिमांशु गौरव व पकड़ीदयाल डीएसपी दिनेश कुमार पांडे कर रहे थे। गिरफ्तार आरोपितों ने पूछताछ में हमले में शामिल दर्जनों लोगों के भी नाम बताये हैं। उनकी निशानदेही पर पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। गिरफ्तार सभी आरोपितों को कड़ी सुरक्षा में न्यायिक हिरासत में भेजा गया।

प्रभारी थानाध्यक्ष ने बताया कि एफआईआर के आधार पर उक्त आरोपितों को गिरफ्तार किया गया। उन्हें पूछताछ के बाद न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। छापेमारी में प्रभारी थानाध्यक्ष, दारोगा सुनील कुमार, बिरसा उरांव, शिव जलिंदर सिंह, श्याम नन्दन दास, जलेश्वर भगत के साथ पकड़ीदयाल, फेनहारा व मधुबन पुलिस सहित भारी संख्या में एसएसबी, बीएमपी व सैप जवान शामिल थे। घटना के बाद गांव के लोग घर छोड़कर फरार हैं। पूरी बस्ती में सन्नाटा पसरा हुआ है।

Updates